Hospital helpline number: xxxxxxx

अगले सत्र से शुरू होगा मधेपुरा मेडिकल कॉलेज

मधेपुरा मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस कोर्स में नामांकन की अनुमति देने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) को आवेदन दिया है। विभाग ने इसके लिए साढ़े तीन लाख फीस भी जमा कर दी है। उम्मीद है कि अगले सत्र से यहां नामांकन की अनुमति मिल जाएगी। एमसीआई की टीम जल्द मधेपुरा कॉलेज का निरीक्षण कर सकती है। निरीक्षण में अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो नामांकन की अनुमति मिल जाएगी। इस कॉलेज में एमबीबीएस की 100 सीटों पर नामांकन होना है। इधर कॉलेज भवन का निर्माण लगभग पूरा हो गया है। संभावना है कि दिसम्बर तक फीनिशिंग का काम पूरा हो जाएगा। अस्पताल में मरीजों के लिए 300 बेड की व्यवस्था होगी। इसके लिए आधुनिक ओटी का निर्माण किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने कॉलेज अस्पताल के लिए उपकरण खरीदने का टेंडर निकाला है। उपकरण की खरीद के बाद शिक्षकों के पदस्थापन का काम शुरू होगा। 1173 असिस्टेंट प्रोफेसर की बहाली के लिए साक्षात्कार जारी है। इन शिक्षकों में कई को मधेपुरा कॉलेज भेजा जाएगा। स्वास्थ्य विभाग करीब 300 शिक्षकों को प्रोन्नति देने वाला है। असिस्टेंट प्रोफेसर को एसोसिएट प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसर को प्रोफेसर बनाया जाना है। प्रोन्नत शिक्षकों को भी मधेपुरा कॉलेज भेजा जाएगा। उल्लेखनीय है कि 11 साल से मधेपुरा मेडिकल कॉलेज अस्पताल का निर्माण हो रहा है। राज्य सरकार ने 2006 में ही पावापुरी, बेतिया व मधेपुरा में मेडिकल कॉलेज खालने का निर्णय लिया था। पावापुरी व बेतिया में तो कॉलेज बन गए, लेकिन मधेपुरा में कई कारणों से निर्माण लटका रहा। मधेपुरा मेडिकल कॉलेज में नामांकन की अनुमति के लिए एमसीआई में आवेदन किया गया है। निरीक्षण रिपोर्ट के बाद नामांकन की अनुमति मिलेगी। – डॉ. अशोक यादव, प्राचार्य, मधेपुरा मेडिकल कॉलेज

Leave a Reply